पितृ पक्ष में यह गलती मत करना | pitru paksha me kya nahi karna chahiye

तुमच्या जवळच्या व्यक्तीला सुद्धा शेयर करायला विसरू नका
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

pitru paksha me kya nahi karna chahiye – पितृ पक्ष में क्या नही करना चाहिए

अब इस लेख में हम जानकारी लेनेवाले है कि, pitru paksha me kya nahi karna chahiye – पितृ पक्ष में क्या नही करना चाहिए. शास्त्रपक्ष में बताया गया है कि, जब पितृ पक्ष सुरु होता है तबसे, खाने में मसूर और मदार की दाल, धतूरा, कुल्थी, अलसी का प्रयोग न करे. और तो और नशीली चीजे और तमशीन भोजन भी ले.

pitru paksha me kya nahi karna chahiye
pitru paksha me kya nahi karna chahiye

दूसरी बात पितृ पक्ष में क्या नही करना चाहिए. शरीर पर साबुन और तेल भी न इस्तेमाल करे, और साथ मे इत्र भी न इस्तेमाल करे. नया घर लिया हो तो, नए घर मे बिल्कुल भी प्रवेश न करे. इसके पीछे का कारण यह है कि, जब हम नए घर जाते है तो, पितरो की जहा, जिस घरमे मौत हो गई वही घर वो जाते है, जब घरमे कोई नही मिलता तो उनको तकलीफ होती है.

महाराष्ट्र की पूरणपोली कैसे बनाते है

अगर कोई भी आदमी पितृ पक्ष में इस बातो को ध्यान में नई रखता और उल्टे काम करता है तो, उसको कलह का सामना साथ मे तकलीफ झेलनी पड़ेगी, यह तो बाते थी पितृ पक्ष में क्या नही करना चाहिए. अब इसका उपाय क्या है पितृ पक्ष में क्या करना चाहिए. ओ देखते है.

पितृ पक्ष में क्या करना चाहिए.

श्राद्ध के दिन दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके पितर स्तोत्र पठन करना चाहिए. कुत्ते, कौवे को खाना देना शुभ होता है, गाय देवता को ग्रास देना भी बहुत शुभ माना जाता है. पितृ पक्ष विधि भी उचित समय मे करनी चाहिए. पितृ पक्ष मंत्र भी इस्तेमाल कर शकते है.

पितृ पक्ष में कोई शुभ काम नही करना, क्योकि उनमे प्रेत का अंश होता है, ऐसा माना जाता है. यह भाद्रपद अमावस्या से सुरु होता है. जब पूर्वज धरती पर आते है.


तुमच्या जवळच्या व्यक्तीला सुद्धा शेयर करायला विसरू नका
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Comment